-------------अल्लाह जिसे चाहे उसे देता है सब कुछ ---------------




ज़ुल्मत  को  घटा  कहने  से  खतरा  नहीं   जाता 

दीवार    से    भूचाल   को   रोका    नहीं     जाता 


     जात ओ   के    तराजू   में    अजमत   नहीं    तुलती 

     फीते  से   तो     किरदार    को    नापा    नहीं     जाता 


दरया   के    किनारे    तो   पहुँच    जाते     हैं  प्यासे 

प्यासों   के   घर   को    कभी   दरया   नहीं   जाता  



वापिस   नहीं   होना   हैं   तो   पांव   ही   कटा    दो
इस   मोड़  से   आगे   कोई   रास्ता    नहीं   जाता   



अल्लाह   जिसे   चाहे   उसे   देता   है    सब    कुछ  

   इज्ज़त   को    दुकानों    से   खरीदा   नहीं    जाता   !

Two Liners Spiced Up

चाह  गई  चिंता मिटी, मनुआ बेपरवाह।
जिनको कछु न चाहिए, वे साहन के साह।।  One with  Least Desires is the Actual King .

चलती  चक्की  देख  के  दीया  कबीरा  रोये ।
दो  पाटन  के  बीच  में   साबित  बचा  न  कोये ।। No One left One Piece in these Worldly Pursuits

तिनका कबहुँ ना निंदये, जो पाँव तले होय ।
कबहुँ उड़ आँखो पड़े, पीर घानेरी होय ॥
रहिमन देख बड़ेन को, लघु न दीजिये डारि।
जहाँ काम आवै सुई, कहा करै तलवारि॥  Never Under Estimate Any Thing.

धीरे-धीरे रे मना, धीरे सब कुछ होय ।
माली सींचे सौ घड़ा, ॠतु आए फल होय ॥  Don't  Ever  Be  Impatient.

बडा हुआ तो क्या हुआ जैसे पेड़ खजूर।
पंथी को छाया नही फल लागे अति दूर ॥
रहिमन वे नर मर गये, जे कछु माँगन जाहि।
उनते पहिले वे मुये, जिन मुख निकसत नाहि॥  Better Ask  Rich  People , Me Not.

कामी, क्रोधी, लालची, इनसे भक्ति न होय ।
भक्ति करे कोइ सूरमा, जाति वरन कुल खोय ॥  In Modern World Its Next To  Impossible To Be A Saint.

उठा बगुला प्रेम का तिनका चढ़ा अकास।
तिनका तिनके से मिला तिन का तिन के पास॥  Power of  Love.

साधू गाँठ न बाँधई उदर समाता लेय।
आगे पाछे हरी खड़े जब माँगे तब देय॥ Needs  of   Bhakta  are  Always  Fullfilled.

देनहार कोउ और है, भेजत सो दिन रैन।
लोग भरम हम पै धरैं, याते नीचे नैन॥  He is the Only Ann-Data ( Provider ). Matters Really----

छमा बड़न को चाहिये, छोटन को उत्पात।
कह ‘रहीम’ हरि का घट्यौ, जो भृगु मारी लात॥

बिगरी बात बने नहीं, लाख करो किन कोय।
रहिमन बिगरे दूध को, मथे न माखन होय॥
रहिमन धागा प्रेम का, मत तोड़ो चटकाय।
टूटे से फिर ना जुड़े, जुड़े गाँठ परि जाय॥  Let The  Bygone be Bygone. Don't try to hang on.

रहिमह ओछे नरन सो, बैर भली ना प्रीत।
काटे चाटे स्वान के, दोउ भाँति विपरीत॥  Better  Avoid  Bad  Company ( Even Animosity )

__________________________________________________________________

इश्क  कातिल  से   भी , मखतूल   से   हमदर्दी   भी  

ये  बता  किस  से   मोहब्त  की  जजा  (Reward)  माँगे-गा 

सजदा  खालिक  को  भी ,  इब्लीस ( devil )  से  याराना  भी

हश्र  में  किस  से  अकीदत  ( Prayers ) का सिला  माँगे -गा 

------------- दुश्मन का डर क्या ----------------

    

 तुम्हारी  कृपा   है   तो  दुश्मन   का  डर  क्या  

 तुम्हारे   गुलामो   को    खोफो  खतर  क्या 

  कृपा   की   नज़र   से   जो   तुम   देखते   हो 

 करेगी   किसी  की   भला   बद-नज़र   क्या  

बनाते    हो   बिगड़ी  हुई   बात   जब   तुम  

 बिगाड़े  का  ना - चीज़  कम  तर  बशर  क्या 

  गरीबो   के  अश्रु -बिंदु  पर  जो  तुम  न   रूठो 

   तो  कर  ले  लेगा  सारा  जहाँ  रूठ   कर  क्या  !

If You Desire To Reach Your Goal ------


Taskeen na ho jis se wo raaz badal dalo
Jo raaz na rakh paye hum-raaz badal dalo



Tum ne bhi suni hogi bari aam kahawat hey
Anjam ka ho khatra aghaz badal dalo



Pur-soz dilon ko jo muskan na dey paye
Sur hi na milay jis mein wo saaz badal dalo



Dushman kay iradon ko hey zahir agar kerna
Tum khel wohi khelo andaz badal dalo



Aey dost karo himmat kuch door sawera hey
Agar chahtay ho manzil tou perwaz badal dalo

मौसम से कभी घबराना नहीं ----


तुझे खबर भी है मेले में घूमने वाले
तेरी ‘दुकान’ कोई दूसरा चलाता है।



अब तक जो हुआ सो हुआ वाली
अब दिल का रोग लगाना नहीं।

अब किसी से मिलना जुलना नहीं,
कहीं आना नहीं कहीं जाना नहीं।

तुमको अच्छा या बुरा लगे,
देखो हम झूठ नहीं कहते।

तुम भी दुनिया से कटे रहे,
दुनिया ने भी तुमको माना नहीं।

जो लोग तुम्हारे साथ में हैं,
पत्थर भी उन्हीं के हाथ में हैं।

सब अपनी-अपनी घात में हैं,
तुमने इनको पहचाना नहीं।

दुखों की लंबी-लंबी रातें,
सुखों के छोटे-छोटे दिन।

सब आते जाते मौसम हैं,
मौसम से कभी घबराना नहीं।
Blogger Wordpress Tips